बीएसएफ के एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट ने लगाया मानव तस्करी पर अंकुश, चालू वर्ष 2021 में मानव तस्करी के कुल 14 मामले आए सामने

बीएसएफ के एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट ने लगाया मानव तस्करी पर अंकुश, चालू वर्ष 2021 में मानव तस्करी के कुल 14 मामले आए सामने

| Desk

गंभीर समाचार 16 Apr 2021

दक्षिण बंगाल फ्रंटियर ने आज दिनांक 16 अप्रैल, 2021 को जारी किए बयान में बताया कि उनके इलाके में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर तैनात की गई एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट अपने कार्य के प्रति उत्कृष्टता का परिचय देते हुए चालू वर्ष 2021 में अभी तक  14 पीड़ितों को मानव तस्करी के मामले में बचाया है तथा उनके साथ 17 दलालों को भी गिरफ्तार किया है। ज्यादातर मामलों में यह देखने में आया है कि महिलाओं को अच्छी नौकरी का झांसा देकर उनका जिस्म फिरोशी के अमानवीय धन्धे में झोंक दिया जाता है और दलाल उनका फायदा उठाते  हैं। 

क्या है एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट

एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट, बीएसएफ दक्षिण बंगाल फ्रंटियर का ही एक महत्वपूर्ण अंग है जो अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर रहकर मानव तस्करी को रोकने में प्रयत्नशील है। इसे दक्षिण बंगाल फ्रंटियर ने दिनांक 15 जनवरी, 2021 में सीमावर्ती इलाकों में मानव तस्करी के घिनौने अपराधों को देखते हुए तैनात किया था। एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट में बीएसएफ की महिला कार्मिक तथा जवानों को उनकी उत्कृष्ट क्षमता के आधार पर शामिल किया गया है जिससे कि वह मानव तस्करी से पीड़ित महिलाओं की पहचान आसानी से कर सकें। 

पकड़े गए मामलों की गंभीरता को देखते हुए दक्षिण बंगाल फ्रंटियर फ्रंटियर, बीएसएफ ने अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर सभी एनजीओ, पुलिस स्टेशन, गवर्नमेंट एजेंसियों तथा मानव तस्करी के विरूद्ध कार्यवाही में काम कर रही संस्थाओं से आग्रह किया है कि वह सभी साथ मिलकर इस प्रकार के मानवता को शर्मसार करने वाले घिनौने अपराध को खत्म करने में सहयोग करें।

.

ट्रेंडिंग