अमेरिकियों पर भी भूख है हावी

कोरोना संकट से बेहाल अमेरिका में भूख लोगों पर हावी होने लगा है. मुफ्त फूड पैकेट लेने वालों की लंबी कतारें देखी जा सकती है. अब तक अमेरिका में 91 हजार से अधिक लोगों की कोरोना संक्रमण की वजह से जान चली गई है तो बीते आठ - नौ हफ़्ते में 3.5 करोड़ से ज़्यादा लोग की नौकरियां चली गई हैं. नौकरियां खोने वाले लोगों की असली संख्या इससे भी ज़्यादा है.

| डेस्क

गंभीर समचार 04 Jun 2020

कोरोना संकट से बेहाल अमेरिका में भूख लोगों पर हावी होने लगा है. मुफ्त फूड पैकेट लेने वालों की लंबी कतारें देखी जा सकती है. अब तक अमेरिका में 91 हजार से अधिक लोगों की कोरोना संक्रमण की वजह से जान चली गई है तो बीते आठ - नौ हफ़्ते में 3.5 करोड़ से ज़्यादा लोग की नौकरियां चली गई हैं. नौकरियां खोने वाले लोगों की असली संख्या इससे भी ज़्यादा है.

साल 2018 में आई एक रिपोर्ट बताती है कि लगभग 3.72 करोड़ लोग, जिनमें 1.12 करोड़ बच्चे शामिल हैं, खाने-पीने की समस्या वाले घरों में रहते हैं.

अमरीका में इस समस्या के निदान करने में लगी संस्था फीडिंग अमरीका के मुताबिक़, "इस महामारी के बाद अमरीका में चार में से एक बच्चा खाने के संकट का सामना कर सकता है."

टेक्सस में लगभग दस हज़ार लोग लाइन लगाकर खाने के सामान का इंतज़ार करते हुए नज़र आए. दक्षिणी फ़्लोरिडा में एक फ़ूड बैंक के सामने कारों की मीलों लंबी क़तारें देखी गईं.

विशेषज्ञ कहते हैं कि संघीय सरकार की ओर से चलाई जा रही स्कीम सप्लीमेंटल न्युट्रिशन असिस्टेंस प्रोग्राम (स्नेप), जिसे फ़ूड स्टैंप भी कहा जाता है, भी नाकाफ़ी साबित हो रहा है. स्नैप स्कीम का उद्देश्य कम निम्न आय वर्ग में आने वाले लोगों और परिवारों की मदद करना है. इसके तहत फ़ूड स्टैंप दिए जाते हैं जिन्हें लोग खाना ख़रीदने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं.

इसके दूसरी ओर विस्कॉन्सिन में इसके उलट तस्वीरें सामने आ रही हैं जहां किसान फूड प्रोसेसिंग यूनिट बंद होने और माँग कम होने की वजह से कई गैलन दूध बहा रहे हैं.

ऐसी ही तस्वीरें फ़्लोरिडा से भी आ रही हैं जहां ट्रैक्टर हरी फलियों को कुचलते हुए नज़र आ रहे हैं. या कैलिफॉर्निया में किसान फसल को सड़ने दे रहे हैं.

वहीं, मिनेसोटा से ख़बर आ रही है कि दस हज़ार सुअरों को प्रतिदिन मारा जा रहा है. इसके साथ ही लाखों मुर्गियों को मारा जा रहा है क्योंकि फ़ूड प्रोसिसिंग इकाइयां बंद हैं.

थिंक टैंक सेंटर फ़ॉर स्ट्रैटेजिक एंड इंटरनेशनल स्टडीज़ के ग्लोबल फ़ूड सिक्योरिटी प्रोग्राम की निदेशक मुताबिक अमरीकी इस बात से हैरान और शर्मसार हैं कि वे खाने को सड़ने दे रहे हैं और खाने-पीने के सामान की कमी भी झेल रहे हैं.

अमेरिका में ज़रूरत के मुताबिक़ खाना और सब्जियां हैं. हमारे पास माँसाहारी लोगों के लिए जानवर हैं. ये सप्लाई चेन की समस्या ज़्यादा है" सरकार ने किसानों को मदद देने के लिए उनसे खाने-पीने का ताज़ा सामान लेकर फ़ूड बैंकों में देने के लिए 19 अरब डॉलर का कोरोना वायरस फूड असिस्टेंस कार्यक्रम शुरु किया है. फीडिंग अमेरिका की वेबसाइट के मुताबिक़, अमरीका में दो सौ फ़ूड बैंक चल रहे हैं जो कि प्रति वर्ष 4.3 अरब बार खाने की कमी पूरी करते हैं.विशेषज्ञ कहते हैं फ़ेडरल सरकार का 2.3 ट्रिलियन का फाइनेंशियल पैकेज लोगों की मदद करेगा क्योंकि लोगों के पास पहुँचने लगा है.सरकार की मदद के बावजूद लोगों के सामने समस्याएं आ रही हैं.

ट्रेंडिंग